हॉकी : भारत की लगातार चौथी जीत, अब वर्ल्ड चैंपियन बेल्जियम को 2-1 से दी मात

99

भारतीय पुरुष हॉकी टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है. टीम ने बेल्जियम दौरे पर अपनी चौथी जीत दर्ज की है. इस बार टीम ने मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन और यूरोपियन चैंपियन बेल्जियम को मात दी है. भारतीय टीम ने ये मुकाबला 2-1 से अपने नाम किया. भारत के लिए अमित रोहिदास ने दसवें और सिमरनजीत सिंह ने 52वें मिनट में गोल किए. वहीं मेजबान बेल्जियम के लिए एकमात्र गोल 33वें मिनट में टीम के कप्तान फेलिक्स डेनायेर ने किया. कुल मिलाकर इस मैच में दुनिया की दूसरे नंबर की टीम के खिलाफ भारतीय टीम ने बेहतरीन खेल दिखाया.

भारतीय टीम ने अपने पिछले मुकाबले में स्पेन को 5-1 से हराया था. भारत ने बेल्जियम के खिलाफ मुकाबले की आक्रामक शुरुआत की और दबदबा बनाए रखा. टीम को इसका फायदा भी मिला और दसवें मिनट में ही उसे पेनाल्टी कॉर्नर हासिल हो गया, जिसे गोल में बदलने में रोहिदास ने कोई गलती नहीं की. हालांकि बेल्जियम ने इसके बाद भारतीय खेमे पर आक्रमण तेज कर दिए, लेकिन भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश के बेहतरीन बचाव के चलते उसे अपने मंसूबों में कामयाबी नहीं मिली. इसके साथ ही भारत ने पहले क्वार्टर में बढ़त के साथ खेल खत्म किया.

हाफ टाइम के बाद आई मुकाबले में तेजी
अगले 15 मिनट में भी यही स्थिति कायम रही और भारत ने अधिकतर समय गेंद पर कब्जा रखा. टीम ने इस दौरान बेल्जियम के गोलपोस्ट पर कई हमले भी किए, लेकिन उसे गोल में सफलता नहीं मिली. हालांकि हाफ टाइम से पांच मिनट पहले ही मेजबान टीम ने अपना पहला पेनाल्टी कॉर्नर हासिल कर लिया, लेकिन श्रीजेश की जगह दूसरे क्वार्टर में गोलकीपिंग की जिम्मेदारी संभाल रहे कृष्‍णन बी पाठक ने बेहतरीन बचाव किया. हाफ टाइम तक भारत ने एक गोल की अपनी बढ़त कायम रखी.

तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में बेल्जियम ने अपने प्रदर्शन को सुधारा और 33वें मिनट में मिले पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में बदलकर मुकाबले को बराबरी पर ला खड़ा किया. तीसरे क्वार्टर में गेंद पर कब्जे की जद्दोजहद के बीच मुकाबला बराबरी पर खत्म हुआ. आखिरी क्वार्टर में बेल्जियम ने तेज शुरुआत की और गोल करने का भरसक प्रयास किया, लेकिन उसे कामयाबी नहीं मिली. वहीं, भारत ने मौके का इंतजार किया और उसे इसका फल भी मिला जब 52वें मिनट में टीम के सामूहिक प्रयास को सिमरनजीत ने गोल का रूप दे दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here