IND vs WI : स्‍मृति मंधाना का एक और कारनामा, ऐसा करने वाली भारत की पहली महिला बल्लेबाज बनीं

65

भारतीय महिला टीम ने नॉर्थ स्टैंड में खेले गए सीरीज के तीसरे और आखिरी वनडे मैच में वेस्टइंडीज को 6 विकेट से हराकर 2-1 से सीरीज भी अपने नाम कर ली. पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम 194 रनों पर ही सिमट गई. जवाब में टीम इंडिया ने 47 गेंद पहले ही चार विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया. भारत की यह बड़ी जीत स्मृति मंधाना के नाम रहीं, जिन्होंने 63 गेंदों पर 74 रन बनाए. अपनी इस लाजवाब पारी के दम पर मंधाना ने भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक कीर्तिमान भी स्‍थापित कर दिया.


10 अप्रैल 2013 को अहमदाबाद में इंटरनेशनल स्तर पर वनडे क्रिकेट में पदार्पण करने वाली मंधाना ने 74 रन की पारी के दम पर वनडे क्रिकेट में अपने 2000 रन भी पूरे कर लिए हैं और सिर्फ 51 पारियों में उन्होंने ऐसा किया. वनडे क्रिकेट में सबसे तेज इस क्लब में शामिल होने वाली वह पहली भारतीय और दुनिया की तीसरी महिला क्रिकेटर बन गई हैं. उनसे पहले इस लिस्ट में बेलिंडा क्लार्क और मेग लेनिंग का नाम आता है. बेंलिडा ने 41 और मेग लेनिंग ने 45 गेंदों में यह कारमाना किया.

जेमिमा और मंधाना ने दिलाई टीम काे मजबूत शुरुआत
वेस्टइंडीज टीम के दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को जेमिमा रोड्रिग्स और स्मृति मंधाना ने मजूबत शुरुआत दिलाई. इस सलामी जोड़ी के बीच 141 रन की साझेदारी हुई. जेमिमा ने 69 रन बनाए. वहीं पूनम राउत ने 24, मिताली राज ने 20 रनाें का योगदान दिया. हरमनप्रीत कौर शून्य और दीप्ति शर्मा चार रन पर नाबाद रही. इससे पहले झूलन गोस्वामी और पूनम यादव ने दो-दो विकेट, शिखा पांडे, राजेश्वरी गायकवाड़ और दीप्ति शर्मा ने एक-एक विकेट लेकर वेस्टइंडीज को मुश्किल में डाल दिया था. स्मृति ने अपनी पारी में नौ चौके और तीन छक्के लगाए.

टेलर ने खेली कप्तानी पारी
इससे पहले लड़खड़ाती पारी को संभालते हुए कप्तान स्टेफनी टेलर ने वेस्टइंडीज की ओर से सर्वाधिक 79 रन की पारी खेली, लेकिन दूसरे छोर पर मजबूत साथ न मिलने के कारण कप्तान भी अपनी टीम को सम्माजनक स्कोर तक नहीं पहुंचा पाई. टेलर के अलावा वेस्टइंडीज की ओर से स्टेची किंग ने 38 और नाइट ने 16 रन बनाए. इनके अलावा कोई और बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा छू तक नहीं पाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here