तेज गेंदबाजों ने दुनियाभर में मचाई धूम, इक टेस्ट रैंकिंग के टॉप-10 में 9 पेसर

94

बहुत अधिक वक्त नहीं बीता जब आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में भारत के दो स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा का जलवा नजर आता था. यही वजह है कि अश्विन साल 2015 और 2016 में लगातार रैंकिंग में सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाज बने रहे थे. श्रीलंका के रंगना हेराथ भी रैंकिंग में अपनी जगह पक्की करने के लिए जाने जाते थे. चार साल पहले आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष चार स्‍थानों में से तीन पर स्पिनरों का ही कब्जा रहता था. मगर चार साल बाद अब हालात पूरी तरह बदल चुके हैं. आईसीसी की ताजा टेस्ट रैंकिंग में टॉप 10 में स्पिनरों के नाम पर सिर्फ अश्विन ही जगह बना सके हैं. यहां तक कि अगर आप टॉप 20 गेंदबाजों पर नजर डालें तो उनमें महज तीन ही स्पिनर हैं.

स्पिनरों से लेकर अब तेज गेंदबाजों ने थाम ली मशाल
क्रिकेट जगत में 1970 का दशक तेज गेंदबाजों का युग माना जाता है और तेज गेंदबाजों के हालिया प्रदर्शन को देखते हुए कहा जा सकता है कि वैसा ही एक दौर मौजूदा समय में भी चल रहा है. तब वेस्टइंडीज के पास सिल्वेस्टर क्लार्क, एंडी रॉबर्ट्स, माइकल होल्डिंग, जोएल गार्नर, कोलिन क्राफ्ट, ऑस्ट्रेलिया के पास डेनिस लिली, ज्यॉफ थॉमसन, इंग्लैंड के पास बॉब विलिस और इयान बॉथम, पाकिस्तान के पास इमरान खान, सरफराज नवाज, न्यूजीलैंड के पास रिचर्ड हेडली और भारत के पास कपिल देव सरीखे तेज गेंदबाज थे. हालांकि इस दौर के बाद स्पिनरों ने टेस्ट क्रिकेट में धूम मचाना शुरू कर दिया. मगर अब फिर से हालात बदल रहे हैं.

भारतीय तेज गेंदबाजों का दुनिया ने माना लोहा
श्रीलंका के खिलाफ इंदौर टी20 में भारतीय तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने 150 किमी प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से गेंद फेंकी. उनके अलावा जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी को कैसे नजरअंदाज किया जा सकता है. यहां तक कि हाल ही में भारत का दौरा करने वाली साउथ अफ्रीकी टीम के कप्तान फाफ डुप्लेसी ने भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण की जमकर तारीफ की थी. बुमराह ने तो 19.24 की औसत से गेंदबाजी की है, जो पिछले 60 सालों में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है. उन्हें शमी और इशांत शर्मा से अच्छा साथ मिला है, जो टेस्ट रैंकिंग में 10वें व 19वें नंबर पर हैं. उमेश यादव को और जोड़ दें तो उनका रैंकिंग में नंबर 21वां है.

एंडरसन-ब्रॉड के बाद अब आर्चर-स्टोक्स
इंग्लैंड के लिए जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने तेज गेंदबाजी आक्रमण का जिम्मा बखूबी संभाल रखा है. एंडरसन सातवें और ब्रॉड 14वें नंबर पर हैं. इन दोनों के अलावा इंग्लैंड क्रिकेट की नई सनसनी जोफ्रा आर्चर और ऑलराउंडर बेन स्टोक्स भी इंग्लैंड की तेज गेंदबाजी को धार देने का काम करते हैं. न्यूलैंड्स में साउथ अफ्रीका को आखिरी वक्त में मात देने में बेन स्टोक्स की गेंदबाजी का अहम योगदान रहा, जिन्होंने एक के बाद एक तीन विकेट चटकाकर टीम को जीत दिला दी. इस दौरान उन्होंने लगातार 146 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से गेंदबाजी की. इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत स्टोक्स रैंकिंग में 27वें नंबर पर पहुंच गए हैं.

पैट कमिंस की दुनियाभर में धूम
ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस की धूम तो मौजूदा वक्त में पूरी दुनिया में मची हुई है. पाकिस्तान के खिलाफ घरेलू सीरीज उनके लिए अधिक यादगार नहीं रही. तब उन्होंने दो टेस्ट में आठ विकेट लिए. मगर न्यूजीलैंड के खिलाफ एमसीजी पर उन्होंने 28 रन देकर पांच विकेट हासिल कर इसकी भरपाई की. पिछले करीब एक साल में कमिंस ने 13 टेस्ट में 20 की औसत से 63 विकेट लिए हैं. यहां तक कि आईपीएल 2020 के लिए हुई नीलामी में भी वे सबसे महंगी कीमत पर बिके. उन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स ने 15.5 करोड़ रुपये में अपने साथ जोड़ा. इसके अलाव ऑस्ट्रेलियाई टीम में मिचेल स्टार्क, जोश हेजलवुड जैसे तेज गेंदबाज भी हैं.

रबाडा जैसा कोई नहीं
वहीं साउथ अफ्रीकी टीम भी इस मामले में कम खुशकिस्मत नहीं है. उसके पास कगिसो रबाडा के रूप में ऐसा तेज गेंदबाज है जो हर 40वीं गेंद पर विकेट लेता है और ये स्ट्राइक रेट टेस्ट इतिहास का चौथा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. रबाडा आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में चौथे नंबर पर हैं. वहीं, वर्नोन फिलेंडर आठवें पायदान पर हैं. डेल स्टेन टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं, हालांकि अब एनिरक उनकी जगह लेने की कोशिशों में जुटे हैं.

नील वैगनर ने 3 टेस्ट में लिए 17 विकेट
न्यूजीलैंड के नील वैगनर के प्रदर्शन से भला कौन वाकिफ नहीं है. उन्होंने बहुत तेजी से आईसीसी रैंकिंग में दूसरा स्‍थान कब्जा लिया. 33 साल के बाएं हाथ के इस गेंदबाज ने ऑस्ट्रेलियसा के खिलाफ 3 टेस्ट मैच में 17 विकेट लिए. वहीं टिम साउदी ने भी दो टेस्ट में 12 विकेट लेकर बढ़िया प्रदर्शन किया. इसके अलावा टीम के पास ट्रेंट बोल्ट, मैट हेनरी और लॉकी फग्युर्सन जैसे गेंदबाज भी हैं.

जेसन होल्डर के हाथों में कमान
एक समय तेज गेंदबाजी के आसमान पर राज करने वाली वेस्टइंडीज की टीम के पास मौजूदा समय में एक बार फिर तेज गेंदबाजों की नई खेप सामने आई है. इसमें जेसन होल्डर तो हैं ही जो टीम के टेेस्ट कप्तान भी हैं, वहीं शेल्‍उन कॉटरेल, कीमार रोच और शैनन गैब्रियल भी शामिल हैं.

पाकिस्तान का युवा चेहरा नसीम शाह
वहीं एक समय पाकिस्तान को तेज गेंदबाजों की खान कहा जाता था. अब भी इस टीम के पास एक के बाद एक नए युवा तेज गेंदबाज उभरकर सामने आ रहे हैं. इनमें मोहम्मद अब्बास आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में 16वें पायदान पर कायम हैं. वहीं शाहीन आफरीदी, नसीम शाह का भविष्य भी काफी उज्जवल बताया जा रहा है.

आईसीसी टेस्ट गेंदबाज रैंकिंग : (1) पैट कमिंस (2) नील वैगनर (3) जेसन होल्डर (4) कगिसो रबाडा (5) मिचेल स्टार्क (6) जसप्रीत बुमराह (7) जेम्स एंडरसन (8) वर्नोन फिलेंडर (9) रविचंद्रन अश्विन (10) मोहम्मद शमी (11) जोश हेजलवुड (12) कीमार रोच (13) टिम साउदी (14) स्टुअर्ट ब्रॉड (15) नाथन लायन (16) मोहम्मद अब्बास (17) रवींद्र जडेजा (18) ट्रेंट बोल्ट (19) इशांत शर्मा (20) शैनन गैब्रियल.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here