WhatsApp देगा कोरोना वायरस से जुड़ी सही जानकारी, बचाएगा अफवाहों से

105

वॉट्सऐप ने इसके लिए इंटरनेशनल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क (IFCN) को दस लाख डॉलर्स यानी करीब 7.5 करोड़ रुपये दिए हैं.

वॉट्सऐप ने इसके लिए इंटरनेशनल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क (IFCN) को दस लाख डॉलर्स यानी करीब 7.5 करोड़ रुपये दिए हैं.

वॉट्सऐप (WhatsApp) का प्रयोग हमलोग इन्सटैंट मैसेजिंग के लिए करते हैं. लेकिन वॉट्सऐप अब कोरोना वायरस से जुड़ी लेटेस्ट जानकारी भी देगा. इसके लिए वॉट्सऐप ने डब्ल्यूएचओ (WHO), यूनीसेफ (UNICEF), यूएनडीपी (UNDP) और ग्लोबल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क पॉइंटर (Poynter) से टाई-अप किया है. इसमें आपको सलाह दी जाएगी कि कैसे आप दूर से वर्क प्लेस से जुड़ें, कैसे अफवाहों पर ध्यान न दें और कैसे कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर भरोसेमंद सोर्स से जानकारी इकट्ठा करें. फेसबुक के मालिकाना हक वाले वॉट्सऐप ने पूरी दुनिया को इसकी जानकारी उपलब्ध कराई है. (आप इस जानकारी को यहां क्लिक करके ऐक्सेस कर सकते हैं.)

वॉट्सऐप ने इसके लिए इंटरनेशनल फैक्ट चेकिंग नेटवर्क (IFCN) को दस लाख डॉलर्स यानी करीब 7.5 करोड़ रुपये दिए हैं. ये फंड कोरोना वायरस को फैक्ट चेक करने में हेल्प करेगा. इसके लिए 45 देशों में करीब 100 लोकल ऑर्गेनाइज़ेशन का कंसोर्टियम बनाया गया है.

इसके जरिए लोगों को वॉट्सऐप के एडवॉन्स्ड फीचर्स की जानकारी दी जाएगी ताकि कोरोना वायरस के बारे में फैल रही गलत जानकारी को रोका जा सके. यह कदम वॉट्सऐप ने ऐसे वक्त उठाया है जब कोरोना वायरस को लेकर लगातार गलत सूचनाएं फैलाई जा रही हैं. यहां तक कि कई सोर्स से कोरोना के बारे में फेक ट्रीटमेंट की भी जानकारी दी जा रही है जो कि सही के बजाय गलत ज्यादा कर सकता है. बता दें कि इसके साथ ही गूगल, फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर ने भी कोरोना के बारे में गलत जानकारी फैलने से रोकने की पूरी कोशिश की है. हालांकि, वॉट्सऐप कोरोना वायरस हब अभी सिर्फ वेब ब्राउज़र के ज़रिए ही उपलब्ध है. इसे वॉट्सऐप ने एंड्रॉयड और आईफोन के ऐप ले इंटीग्रेट नहीं किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here