एयरफोर्स डे: राफेल लड़ाकू विमानों ने जब आसमान ने लगाई दहाड़

31

IAF Day and Rafale Jet Latest News: वायुसेना दिवस के मौके पर IAF में हाल में शामिल हुए लड़ाकू विमान ने हवा में करतब दिखाए। 4.5 पीढ़ी के इस विमान के आने से भारतीय वायुसेना की ताकत में इजाफा हुआ है।

हवा में दहाड़ा राफेल

हाइलाइट्स:

  • देश की वायुसेना मना रही है अपना 88वां स्थापना दिवस
  • इस अवसर पर हिंडन एयरबेस पर राफेल ने दिखाए अपने करतब
  • भारतीय वायुसेना में राफेल लड़ाकू विमानों के आने से पाकिस्तान और चीन की टेंशन बढ़ गई है

नई दिल्ली – एयरफोर्स के 88वां स्थापना दिवस पर आज हिंडन एयरबेस के आसमान ने राफेल लड़ाकू विमानों ने करतब दिखाए। 4.5 पीढ़ी के लड़ाकू विमान राफले 29 जुलाई को भारत की सरजमीं पर उतरे थे। परमाणु हमला करने में सक्षम और कई घातक हथियारों से लैस राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने के बाद देश को दुश्मनों पर बढ़त मिल गई है।

हिंडन एयरबेस पर दो राफेल विमानों ने हवा में फ्लाईपास्ट किया। शान से दहाड़ते हुए और दुश्मनों को चेतावनी देते हुए ऊंचाईयो में गोते लगाते हुए नजरों से ओझल हो गया। बता दें कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर पिछले 5 महीने से भारत और चीन में तनातनी चल रही है। राफेल ने लेह में भी उड़ान भरी थी।

राफेल के आने से भारतीय वायुसेना को पाकिस्तान और चीन पर बड़ी बढ़त मिल गई है। भारत ने फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीदे हैं, जिनमें से 30 विमान लड़ाकू जबकि छह प्रशिक्षक विमान है। पहाड़ी इलाकों में और लद्दाख जैसे मुश्किल हालात में राफेल और भी घातक साबित होता है। 29 जुलाई को 5 राफेल जेट भारत पहुंचे थे।

पाकिस्तान और चीन को हुई टेंशन

राफेल लड़ाकू विमान एकसाथ कई लक्ष्यों पर निशाना साध सकता है। इस विमान के आने से चीन और पाकिस्तान की टेंशन बढ़ गई है। चीन पांचवी पीढ़ी का J-20 विमान होने का दावा तो करता है लेकिन उसकी क्षमता अभी परखी नहीं गई है। जबकि राफेल विमान पूरी दुनिया में अपनी विध्वंसक क्षमता को साबित कर चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here