Rohit Sharma का मुद्दा गरमाया, BCCI ने Virat Kohli, Ravi Shastri से की बात: रिपोर्ट

39

खबरों के मुताबिक बीसीसीआई ने ऑस्ट्रेलिया में मौजूद कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस कॉल किया है. इससे पहले भारतीय कप्तान ने रोहित शर्मा को लेकर बयान दिया था

विराट कोहली और रोहित शर्मा (फोटो-IANS)

नई दिल्ली: सिडनी में 29 नवंबर को हुए दूसरे वनडे मैच से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा था कि रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की फिटनेस को लेकर कोई उनसे कोई संवाद नहीं हुआ है, और न ही इसको लेकर कोई स्पष्टता है.

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने आईपीएल 2020 (IPL 2020) में हिस्सा लिया था और मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को 5वां खिताब दिलाया था. इस टूर्नामेंट में रोहित कुछ मुकाबलों से दूर रहे थे क्योंकि उन्हें हैम्सट्रिंग की चोट का सामना करना पड़ा था, यही वजह है कि ‘हिटमैन’ को ऑस्ट्रेलिया दौरे की भारतीय वनडे और टी-20 टीम में शामिल नहीं किया गया था. बीसीसीआई (BCCI) को आईपीएल फ्रेंचाइजी और खिलाड़ी से संवाद करने में ढिलाई बरतने पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था.

अंग्रेजी अखबार ‘मुंबई मिरर’ की रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई ने मुद्दे को सुलझाने की कोशिश की है और रोहित शर्मा की फिटनेस को लेकर जो गलतफहमी पेश आई है उसको लेकर बोर्ड ने वीडियो कॉन्फ्रेंस कॉल किया है. इस मीटिंग में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli), कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) और राष्ट्रीय क्रिकेट एकेडमी (NCA) के वो सदस्य शामिल रहे जो रोहित शर्मा की फिटनेस की देखरेख कर रहे हैं. इसके अलावा मीटिंग में चीफ सेलेक्टर सुनील जोशी (Sunil Joshi) भी मौजूद थे

रोहित शर्मा की फिटनेस को लेकर 11 दिसंबर को आखिरी मूल्यांकन किया जाएगा और इसी दिन फैसला भी लिया जाएगा कि वो ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाएंगे या नहीं. अगर रोहित फिटनेस टेस्ट पास भी कर लेते हैं फिर भी कई परेशानियां बरकरार रहेंगी. जैसे 31 दिसंबर तक भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोई इंटरनेशल फ्लाइट सेवा में नहीं है.

अगर रोहित शर्मा किसी तरह ऑस्ट्रेलिया पहुंच भी जाते हैं तो उन्हें नियम के मुताबिक 14 दिनों के लिए क्वारंटीन होना होगा. मुमकिन है कि सौरव गांगुली क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से बातचीत करने के बाद क्वारंटीन पीरियड को कम कराने की कोशिश करेंगे. इसके बावजूद रोहित का एडिलेड और मेलबर्न टेस्ट में शामिल होना काफी मुश्किल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here