नई प्राइवेसी पॉलिसी का असर: 15 फीसदी यूजर्स WhatsApp पूरी तरह छोड़ देंगे, 36% पहले से कम करेंगे इस्तेमाल

14

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी आने के बाद क्या यूजर्स आगे इसका इस्तेमाल करेंगे इसको लेकर सर्वे किया गया. इस सर्वे में भारत के 244 जिलों के चुनिंदा WhatsApp यूजर्स से राय ली गई.

सोशल मीडिया पर इन दिनों WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर खूब चर्चाएं हो रही हैं. इसको लेकर लोग अपनी राय पेश कर रहे हैं. इस बीच दूसरे एप्लीकेशंस जैसे सिग्नल और टेलीग्राम की चांदी हो रही है. WhatsApp के यूजर्स धीरे-धीरे इन ऐप्स पर शिफ्ट होने लगे हैं. हालांकि व्हाट्सऐप की तरफ से इसको लेकर सफाई भी दे दी गई है कि यूजर्स का डेटा सुरक्षित रहेगा. इन सबके बीच बड़ा सवाल ये है कि अगर यूजर्स व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी के पक्ष में नहीं हैं तो कंपनी को कितना नुकसान होगा. इसके अलावा आपको ये भी जानना चाहिए कि लोगों की इस पर क्या प्रतिक्रिया है, क्या भविष्य में भी लोग WhatsApp का यूज करते रहेंगे या फिर दूसरे ऐप के विकल्प के साथ जाएंगे.

कोरोना काल में व्हाट्सऐप बिजनेस का बढ़ा यूज
भारत में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे ट्विटर पर लोग सिग्नल और टेलीग्राम जैसे प्लेटफार्मों पर अपने बिजनेस और फैमिली ग्रुप्स को ट्रांसफर करने की बात कर रहे हैं. वहीं कुछ भारतीय स्टार्टअप्स के सीईओ ने कर्मचारियों को व्हाट्सऐप पर बिजनेस कम्युनिकेशंस करने से परहेज करने की सलाह दी है. यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि कोरोना वायरस महामारी के बाद छोटे व्यापारियों के लिए व्हाट्सऐप के बढ़िया माध्यम बन गया है, व्यापारी इसी पर अपने ऑर्डर्स ले रहे हैं. साथ ही व्हाट्सऐ पे का इस्तेमाल भी ज्यादा होने लगा है.

24,000 से ज्यादा यूजर्स से ली राय
इन सभी पहलुओं पर विचार करने और इसे बेहतर तरीके से समझने के लिए एक सर्वे किया गया कि यूजर्स व्हाट्सऐप का यूज करेंगे या नहीं. साथ ही सर्वे के जरिए यह समझने की कोशिश भी की गई कि व्हाट्सऐप का ये चेंज व्हाट्सऐप बिजनेस और व्हाट्सऐप पे को कैसे प्रभावित करेगा. WhatsApp Business अपने ग्राहकों को बिजनेस के साथ चैट करने और उन्हें ट्रांजेक्शन मैसेज भेजने की परमिशन देता है, WhatsApp Pay जो हाल ही में भारत में सभी यूजर्स के लिए उपलब्ध कराया गया था, ग्राहकों को अपने कॉन्टैक्ट्स को पे करने की परमिशन देता है. इस सर्वे में भारत के 244 जिलों के WhatsApp के 24,000 से ज्यादा यूजर्स से प्रतिक्रियाएं ली गईं.

सर्वे में लोगों ने दी ये प्रतिक्रिया
पहला सवाल ये है कि यूजर्स WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में क्या सोचते हैं. इस पर 8,977 लोगों से सवाल पूछे गए. जिनमें से, 26 फीसदी यूजर्स ने कहा कि वे व्हाट्सएप के उपयोग को काफी कम कर देंगे और अन्य प्लेटफार्म्स का यूज शुरू कर देंगे. वहीं 24 प्रतिशत ने कहा कि वे और उनके ग्रुप अन्य प्लेटफार्म्स पर जाने पर विचार कर रहे हैं. इनके अलावा 15 प्रतिशत ने कहा कि वे पूरी तरह से व्हाट्सएप का यूज करना बंद कर देंगे, और 10 फीसदी ने कहा कि व्हाट्सऐप का यूज कम कर देंगे और ईमेल, एसएमएस का यूज करना शुरू करें. सिर्फ 18 प्रतिशत ने कहा कि वे व्हाट्सएप का उपयोग जारी रखेंगे और उन्हें अपने डेटा का उपयोग करने देंगे. सर्वे के रिजल्ट से संकेत मिले हैं इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप के भारत में 15 फीसदी यूजर्स को पूरी तरह से दूर जाने की संभावना है, जबकि 36 प्रतिशत उपयोग में काफी कमी आएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here