Sherni Review: कैसी है विद्या बालन की फिल्म शेरनी? देखने से पहले पढ़ें Critics रिव्यू

118

Sherni Review: अगर आप भी विद्या बालन की फिल्म शेरनी देखने की प्लानिंग कर रहे हैं तो उससे पहले जान लीजिए कि ये फिल्म कैसी है. आपको बताते हैं कि फिल्म देखने के बाद समीक्षकों ने इसके बारे में क्या लिखा है.

विद्या बालन

फिल्म अभिनेत्री विद्या बालन की ‘शेरनी’ आज अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हो गई हैं. फिल्म “न्यूटन” से प्रसिद्धि पाने वाले अमित मसुरकर द्वारा निर्देशित है. इस फिल्म का काफी समय से इंतजार था. अगर आप भी देखने की प्लानिंग कर रहे हैं तो उससे पहले जान लीजिए कि ये फिल्म कैसी है. आपको बताते हैं कि फिल्म देखने के बाद समीक्षकों ने इसके बारे में क्या लिखा है.

इस फिल्म को तीन स्टार देते हुए अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने शेरनी को देखने लायक बताया है. अखबार ने लिखा है कि ऐसी फिल्मों के लिए विद्या बालन शानदार च्वाइस हैं.

एबीपी अनकट में रिव्यू करते हुए यासिर उस्मान बताते हैं, ”शेरनी कहने को तो एक आदमखोर tigress की कहानी है जो जंगल से सटे गावों के लोगों को अपना निशाना बना रही है लेकिन ये कहानी कई गहरे सवाल समेटे हुए है, जिसके केन्द्र में है इंसान और जानवर का conflict, पर्यावरण का संतुलन मगर उससे भी ज्यादा जरूरी -पुरुषों के लिए समझे जाने वाले काम को करती एक महिला का संघर्ष.” देखें रिव्यू

एबीपी न्यूज़ पर रवि बुले ने इस फिल्म को 1.5 स्टार देते हुए लिखा है कि इसमें न रोमांच है, ना ड्रामा है. ये फिल्म कम और डॉक्युमेंट्री ज्यादा है.

हिंदुस्तान टाइम्स ने इस फिल्म को न्यूटन की तरह ही भारत की ब्यूरोक्रेसी पर एक व्यंग की तरह बताया है और लिखा है कि विद्या बालन एक बार भी इसमें निराश नहीं करती हैं.

आपको बता दें कि इसका निर्माण टी-सीरीज और अबुदंतिया एंटरटेनमेंट ने किया है. “शेरनी” में बालन, विद्या नाम की एक ईमानदार वन अधिकारी के रूप में हैं, जो पितृसत्तात्मक समाज द्वारा निर्धारित सामाजिक बाधाओं और अपने विभाग के भीतर के ढुलमुल रवैये को दूर कर मानव-पशु संघर्ष को हल करने की कोशिश कर रही है. फिल्म में इनके अलावा शरद सक्सेना, मुकुल चड्ढा, विजय राज, इला अरुण, बृजेंद्र काला और नीरज कबी ने भी अभिनय किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here