सामने आए ओमिक्रोन के 2 नए लक्षण, वैक्सीन ले चुके लोगों में नज़र आ रहे हैं ये लक्षण, वैज्ञानिकों ने किया अलर्ट

57

कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन तेजी से पूरी दुनिया में फैल रहा है. भारत में ओमिक्रॉन वैरिएंट के केस हर रोज बढ़ रहे हैं. ओमिक्रोन की बढ़ती रफ्तार ने लोगों को ड़रा दिया है. दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों में ओमिक्रोन के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं. बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी दिल्ली में सरकार ने वीकेंड कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है. हालांकि संक्रमण से बचाव के चलते कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया जा रहा है. कोरोना के जो नए केस सामने आ रहे हैं उनमें 2 नए लक्षण सामने आ रहे हैं. जिन लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज ले रखी हैं उन्हें मितली आना और भूख नहीं लगने जैसी दिक्कतें हो रही हैं. किंग्स कॉलेज लंदन के प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने कहा है कि, ऐसे लक्षण उन लोगों में ज्यादा नज़र आ रहे हैं जिन्हें वैक्सीन की दोनों डोज या बूस्टर डोज लग चुकी है.

ओमिक्रॉन के क्या हैं लक्षण?

ओमिक्रॉन को लेकर किए गए रिसर्च में पाया गया है कि संक्रमित व्यक्ति को गले में खराश, खांसी, नाक बहना, बुखार, मांसपेशियों में दर्द और रात में तेज पसीना आने की तकलीफ हो रही है. कई लोगों में पेट से संबंधित भी कुछ लक्षण नज़र आ रहे हैं. कुछ मरीजों को उल्टी और सिर दर्द की समस्या भी हो रही है. इसमें त्वचा पर भी कुछ बदलाव दिख रहे हैं. कई लोगों को लाल रंग के चकत्ते या दाने भी हो रहे हैं. हालांकि कहा जा रहा है कि डेल्टा वैरिएंट से ओमिक्रोन के लक्षण थोड़े हल्के हैं, लेकिन जैसे-जैसे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है कई नए लक्षणों के बारे में भी पता चल रहा है.

ओमिक्रोन के गंभीरता मामले कम

कई रिसर्च में पता चला है कि ओमिक्रॉन के लक्षण डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले हल्के हैं इससे संक्रमित स्वस्थ लोगों को अस्पतालों में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ रही है. इंपीरियल कॉलेज लंदन के एक रिसर्च में कहा गया है कि ओमिक्रॉन संक्रमित मरीजों में हॉस्पिटल में एडमिट होने की संख्या 15-25 फीसदी कम है.

सीजनल फ्लू के लक्षण

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि सर्दियां में कोल्ड और कफ आम समस्या है और ओमिक्रोन के लक्षण भी ऐसे ही हैं ऐसे में आपको दोनों के लक्षणों में अंतर समझने की जरूरत है. सीजन फ्लू में बुखार, नाक बहना, गले में खराश, खांसी, थकान, सांस लेने में दिक्कत और मांसपेशियों में दर्द रहता है. अगर आपको ऐसे लक्षण नज़र आ रहे हैं तो अलर्ट रहने की जरूरत है. अगर आपको कोरोना जैसे कोई भी लक्षण नज़र आए, तो तुरंत टेस्ट जरूर करवा लें और खुद को आइसोलेट रखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here