CSK vs DC: जीत के बाद बोले धोनी- प्लेऑफ में पहुंचे तो अच्छी बात, नहीं पहुंचे तो दुनिया का अंत नहीं हो जाएगा

45

IPL में रविवार रात को हुए मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को अपनी चौथी जीत हासिल हुई. CSK ने दिल्ली कैपिटल्स (DC) को 91 रन के विशाल अंतर से मात दी. यह इस IPL की सबसे बड़ी जीत भी रही. इस जीत के बाद CSK कप्तान एमएस धोनी बड़े खुश नजर आए. मैच के बाद उन्होंने अपनी टीम की बल्लेबाजी की तो तारीफ की ही साथ ही दो युवा तेज गेंदबाज मुकेश चौधरी और सिमरजीत सिंह की भी जमकर सराहना की. उन्होंने यह भी कहा कि अगर उनकी टीम प्लेऑफ में पहुंचती है तो यह बहुत अच्छी बात होगी. लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो भी यह दुनिया का अंत नहीं है.

मैच के बाद धोनी ने कहा, ‘मुकेश और सिमरजीत दोनों ने परिपक्व होने के लिए वक्त लिया. दोनों गेंदबाजों में काफी प्रतिभा है. ये जितना ज्यादा क्रिकेट खेलेंगे उतने ज्यादा बेहतर होते जाएंगे. गेंदबाजी की सफलता यह समझने में है कि असल में कौन सी गेंदें फेंकनी है और कौन सी गेंदें नहीं फेंकनी है. खासकर टी-20 में यह ज्यादा मायने रखता है कि किस तरह की गेंदें नहीं फेंकनी है.’

मुकेश चौधरी ने इस मुकाबले में तीन ओवर में महज 22 रन देकर दो विकटे झटके. वहीं, सिमरजीत सिंह ने चार ओवर में 27 रन देकर दो बल्लेबाजों को पवेलियन लौटाया. ये दोनों गेंदबाज चेन्नई के लिए बेहतर गेंदबाजी कर रहे हैं. हालांकि शुरुआती मुकाबलों में इन गेंदबाजों को ज्यादा सफलता नहीं मिली थी.

धोनी ने 8 गेंदों पर खेली 21 रन की पारी


धोनी ने अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की शैली पर भी बात रखी. उन्होंने कहा, ‘मैं आते ही बड़े शॉट लगाना पसंद नहीं करता लेकिन अगर पारी में 12 ही गेंदें बाकी हैं तो बड़े शॉट ही मदद करते हैं. अगर आपके हिस्से 2 गेंदें आ रही हैं तो इन पर एक या दो रन बनाकर कुछ नहीं होने वाला. अगर इन दो गेंदों पर हम में से कोई 8 रन बना दे तो यह काफी मददगार साबित हो सकते हैं.’ बता दें कि धोनी ने इस मुकाबले में पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए आते ही बड़े शॉट खेलने शुरू कर दिए थे. धोनी ने नाबाद 8 गेंद पर 21 रन की पारी खेली थी.

‘प्लेऑफ में पहुंचे तो ठीक नहीं पहुंचे तो..’


इस दौरान धोनी ने नेट रन रेट पर भी अपनी बात रखी. उन्होंने कहा, ‘मैं गणित का फैन नहीं हूं. स्कूल में भी मैं गणित में अच्छा नहीं था. नेट रन रेट के बारे में सोचने से कोई मतलब नहीं है. आपको बस IPL एंजॉय करना चाहिए. जब दो टीमें खेलती हैं तो आपको ये सब सोचकर अतिरिक्त दबाव में नहीं आना चाहिए. आपको बस ये सोचना चाहिए कि अगले मैच में क्या करना है. अगर हम प्लेऑफ में जगह बना पाए तो बहुत अच्छी बात है. अगर ऐसा नहीं हो पाया तो यह दुनिया का अंत नहीं है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here