कोविड-19 रोधी टीके का सबको मिलेगा समान फायदा, फिर वजन कम हो या ज्यादा

29

कोविड-19 रोधी टीके को लेकर किए गए एक शोध में सुखद खबर सामने आई है. शोध के अनुसार कोविड-19 रोधी टीके हर मरीज को गम्भीर रूप से बीमार होने से बचाते हैं,फिर चाहे उनके शरीर का वजन कितना ही क्यों न हो.इंग्लैंड में 90 लाख वयस्कों पर किए गए अध्ययन में यह निष्कर्ष निकल कर सामने आया है, जिसे शुक्रवार को “द लांसेट डायबिटीज एंड एंडोक्राइनोलॉजी” में प्रकाशित किया गया.


शोध में शोधकर्ताओं ने पाया कि टीका उन लोगों पर उतना ही प्रभावी था,जिनका शरीर द्रव्यमान सूचकांक (बीएमआई) अधिक था और वजन भी अधिक था.हालांकि कम वजन वाले समूह में इसका प्रभाव थोड़ा कम देखा गया. शोधकर्ताओं ने कहा कि टीके की ख़ुराक ले चुके लोगों के विश्लेषण में यह पता चला कि कोविड-19 के कुछ मामलों में बहुत कम और बहुत अधिक बीएमआई वाले लोगों के, टीके की खुराक ले चुके स्वस्थ वजन वाले लोगों की तुलना में गम्भीर रूप से बीमार पड़ने की आशंका अधिक थी.

सभी वजन वाले लोगों की जान बचाते हैं कोविड-19 रोधी टीके


अध्ययन में शामिल रहीं ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की कार्मेन पियरनास ने कहा “हमारे नतीजे ये सबूत मुहैया कराते हैं कि कोविड-19 रोधी टीके सभी वजन वाले लोगों की जान बचाते हैं.हमारे नतीजे मोटापे से ग्रसित लोगों को आश्वासन देते हैं कि कोविड-19 रोधी टीके उन पर भी कम बीएमआई वाले लोगों की तरह ही प्रभावी हैं और टीकाकरण के बाद उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर गम्भीर रूप से बीमार पड़ने का खतरा कम हो जाता है.”

टीका ले चुके लोगों के अस्पताल में भर्ती होने के चांसेस 70 प्रतिशत कम


लांसेट के अध्ययन में टीके को लेकर एक और सुखद जानकारी सामने आई है,जिसके अनुसार टीका ले चुके लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की आशंका बहुत कम है.शोधकर्ताओं ने कहा कि टीके की खुराक ले चुके स्वस्थ और अधिक बीएमआई वाले समूहों की, टीके की खुराक न लेने वाले लोगों की तुलना में अस्पताल में भर्ती होने की आशंका लगभग 70 प्रतिशत कम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here